दशहरा 2020 : दशहरा क्यों मनाया जाता है, जानिए दशहरा का महत्व
By: Date: September 3, 2020 Categories: FESTIWAL
दशहरा 2020 : दशहरा क्यों मनाया जाता है, जानिए दशहरा का महत्व

दशहरा 2020 : दशहरा क्यों मनाया जाता है, जानिए दशहरा का महत्व – नमस्कार दोस्तों मैं अंकित प्रजापति आपका अपने इस ब्लॉगिंग वेबसाइट पर हार्दिक स्वागत करता हूं। दोस्तों आज हम किस आर्टिकल के माध्यम से बात करने जा रहे हैं दशहरा के बारे में। हम इस आर्टिकल के माध्यम से जानेंगे कि दशहरा क्यों मनाया जाता है और दशहरा का इतना ज्यादा महत्व क्यों है। और साथ में दशहरा से जुड़ी कुछ रोचक बातों के बारे में भी बात करेंगे।

दशहरा के शुभ पावन उत्सव हर साल अश्वनी मां के शुक्ल पक्ष के दसमी तिथि को बड़ी ही धूमधाम से पूरे भारतवर्ष में मनाया जाता है। दशहरा हिंदू धर्म का एक प्रमुख त्योहार है। इसे पूरे भारतवर्ष में हिंदू धर्म के लोग बहुत ही हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं। पुरानी मान्यताओं के अनुसार दशहरा दो कारों की वजह से मनाया जाता है। आइए अब हम इस आर्टिकल के माध्यम से दशहरा के बारे में कुछ विस्तार से बात करते हैं।

दशहरा क्यों मनाया जाता है

दशहरा पूरे भारतवर्ष में बहुत ही उत्साह के साथ मनाया जाता है। दशहरा को हम लोग विजयदशमी के नाम से भी जानते हैं। दशहरा त्योहार हमारे बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक माना जाता है। दशहरा क्यों मनाया जाता है इसके पीछे दो पुरानी कथाएं हैं। जिनके कारण हर साल दशहरा को मनाया जाता है।

पहली कथा के अनुसार भगवान राम ने अपनी पत्नी सीता को बचाने के लिए 10 दिन तक रावण से युद्ध किया था। दसवें दिन भगवान श्रीराम ने रावण को वध करके बुराई पर अच्छाई की जीत की थी। इसलिए दशहरा यानी विजयदशमी के दिन पूरे भारतवर्ष में रावण के पुतला को जलाकर दशहरा त्योहार को मनाया जाता है।

दूसरी कथा के अनुसार बहुत समय पहले महिषासुर का एक राक्षस था। महिषासुर ब्रह्मा जी का बहुत बड़ा भक्त था। महिषासुर ने ब्रह्मा जी की तपस्या करके वरदान प्राप्त कर लिया की उसे कोई देव दानव या पृथ्वी पर रहने वाला कोई भी मनुष्य उसे ना मार सके। महिषासुर को यह वरदान मिलते ही वह तीनो लोक में तबाही मचाना स्टार्ट कर दिया।

महिषासुर के इस आतंक से परेशान होकर सभी देवी देवताओं ने ब्रह्मा विष्णु महेश से मदद मांगी। तब भगवान ब्रह्मा विष्णु महेश ने महिषासुर के वध के लिए मां दुर्गा जी का आवाहन किया। कहते हैं कि मां दुर्गा और महिषासुर के बीच 9 दिन लगातार महा भयंकर युद्ध हुआ। तब जाकर दसवें दिन मां दुर्गा ने महिषासुर का वध किया। बहुत सारे लोग इस दिन के शुभ अवसर पर विजयदशमी यानी दशहरा त्योहार को मनाते हैं। दशहरा त्योहार का मेन बात यह है कि इसमें आपको भाई पर अच्छाई की जीत का जश्न मनाया जाता है।

दशहरा को विजयदशमी क्यों कहते हैं

दोस्तों जैसे कि हमने आपको सुपर बताया कि मां दुर्गा जी ने महिषासुर का वध किया था। क्योंकि महिषासुर एक बहुत ही अत्याचारी राक्षस था। महिषासुर ने स्वर्ग लोक में सभी देवी देवताओं को रहना मुश्किल कर दिया था । और महिषासुर ने स्वर्ग लोक से सभी देवी देवताओं को भगा दिया था।

इसलिए सभी देवी देवताओं ने परेशान होकर ब्रह्मा विष्णु महेश से सहायता मांगी थी। तब जाकर मां दुर्गा जी ने महिषासुर का वध करके असत्य पर सत्य की जीत का परचम लहराया था। इसीलिए हम दशहरा को विजयदशमी के रूप में मनाते हैं।

दशहरा 2020 में कब है

दशहरा के शुभ पावन उत्सव हर साल अश्वनी मां के शुक्ल पक्ष के दसमी तिथि को बड़ी ही धूमधाम से पूरे भारतवर्ष में मनाया जाता है। दशहरा 2020 में 25 अक्टूबर को पूरे भारतवर्ष में बहुत ही धूमधाम से मनाया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *