हरियाली तीज क्या है तथा हरियाली तीज क्यों मनाया जाता है?
By: Date: September 29, 2020 Categories: FESTIWAL
हरियाली तीज क्या है तथा हरियाली तीज क्यों मनाया जाता है?

हरियाली तीज क्या है तथा हरियाली तीज क्यों मनाया जाता है? – नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप सभी? उम्मीद है कि आप सभी स्वस्थ होंगे। दोस्तों मैं एक बार फिर से आप सभी का स्वागत करता हूं हमारे इस बिल्कुल नए आर्टिकल पर। इस आर्टिकल में हम आपको एक ऐसे पर्व के बारे में बताने जा रहे हैं जो हमारे देश में बहुत ही धूमधाम के साथ मनाया जाता है और वह पर वह हरियाली तीज।

आज हम आपको बताएंगे हरियाली तीज क्या है?हरियाली तीज क्यों मनाई जाती है? तथा हरियाली तीज के पीछे का महत्व क्या है? तो दोस्तों अगर आप भी हरियाली तीज से जुड़ी जानकारियां पाना चाहते हैं हमारे आर्टिकल को आखरी तक पूरा पढ़िए।

दोस्तों अगर आप भारत देश का नागरिक है तो आपको पता होगा कि हमारे देश में अनेक प्रकार के व्रत और त्योहार मनाए जाते हैं। प्रतिवर्ष अनेक प्रकार के व्रत और त्यौहार आपको देखने को मिलेंगे। इन सभी के पीछे अपनी एक अलग ही महत्व और अपना एक अलग ही आस्था है।

लेकिन उसमें इन सभी व्रत में एक व्रत ऐसा भी है जो बहुत ही महत्वपूर्ण है। इस व्रत का नाम है हरियाली तीज। अगर आपके घर में आपकी दादी है या फिर आपकी मां है तो हमें पूरा यकीन है कि वह भी हरियाली तीज का व्रत रखती होगी। लेकिन दोस्तों बहुत से लोगों को हरियाली तीज के बारे में जानकारी नहीं होती है।

दोस्तों जैसा कि आप सभी को पता है हम अपने पूर्वजों के पद चिन्हों पर चलते हैं। हमारे पूर्वज जैसा करते थे हम भी वैसा करना ही उचित समझते हैं। बिल्कुल उसी प्रकार आज के समय में जो व्रत और जो त्योहार हमारे पूर्वज मनाते थे हम सभी उनको मनाते हैं।

पर हम कभी यह जानने की कोशिश नहीं करते कि आखिर उनके पीछे वजह क्या होती है? और उन व्रत और त्योहार को मनाने से हमें किन अध्यात्मिक सुखों की प्राप्ति होती हैं। इसीलिए आज हमने आप को हरियाली तीज पर्व के पीछे छुपे महत्व के बारे में बताने का फैसला लिया है। आज इस आर्टिकल में हम आप को हरियाली तीज के बारे में अधिक जानकारी देने जा रहे हैं।

हरियाली तीज क्या है?

दोस्तों अगर आपको नहीं पता की हरियाली तीज क्या है तो मैं आपको बता दूं कि हरियाली तीज का पर्व हिंदुओं का एक बहुत ही प्रमुख पर्व है। यह पर्व हर साल सावन के महीने में होता है। हरियाली तीज का पर्व महिलाओं के लिए होता है। इस दिन घर की सभी स्त्रियां व्रत रहती हैं।

हरियाली तीज का पर्व प्रतिवर्ष श्रावण मास की शुक्ल पक्ष की तृतीया को होता है। हरियाली तीज का पर्व माता पार्वती और भगवान शिव को समर्पित है। इस व्रत को रखकर महिलाएं अपने पति के लंबी आयु की कामना करती हैं और उनकी हर एक की बाधा को हरने की विनती भगवान भोलेनाथ से करती हैं ।

हरियाली तीज का महत्व

दोस्तों हरियाली तीज पर्व का सनातन संस्कृति में बहुत ही बड़ा महत्व है। यह महत्व सीधा पुराणों से जुड़ा हुआ है। ऐसा माना जाता है कि आज के दिन ही माता पार्वती ने भगवान भोलेनाथ को अपना पति के रूप में पाने के लिए कई वर्षों तक कठिन तपस्या की थी। हरियाली तीज के दिन ही भगवान भोलेनाथ ने पार्वती को अपनी पत्नी के रूप में स्वीकार कर लिया था।

इस दिन ही माता पार्वती और भगवान भोलेनाथ एक अटूट बंधन में बंध गए थे। तब से लेकर यह पर्व अनवरत चला आ रहा है। आज भी इस पर्व को इसी उद्देश्य के साथ मनाया जाता है कि जिस प्रकार शंकर और पार्वती की जोड़ी अमर रही है उसी प्रकार इस पर्व को मनाने वाले हर एक सुहागन की जोड़ी अमर रहे।

हरियाली तीज का व्रत कुंवारी बालिकाएं तथा शादीशुदा महिलाएं दोनों रहती है। शादीशुदा महिलाएं व्रत इसलिए रहती हैं ताकि वह अपने पति की लंबी आयु की कामना कर सके तथा कुंवारी बालिका इसलिए व्रत रहती है ताकि उन्हें भी भविष्य में बाबा शिव जैसा ही पति मिले।

हरियाली तीज की पूजा विधि

अगर अभी तक आप हरियाली तीज का व्रत नहीं रहती थी और अब हरियाली तीज का व्रत रहना चाहती हैं तो आपके लिए हरियाली तीज की पूजा विधि जान लेना आवश्यक है। हरियाली तीज के दिन आपको सुबह जल्दी उठना पड़ता है। सुबह जल्दी उठकर आपको हरी चूड़ियां तथा हरे वस्त्र पहनने होते हैं। इस दिन हरे रंग का अपना एक अलग ही महत्व है। हरे रंग के कपड़े पहनने के बाद सोलह सिंगार तथा मेहंदी लगाने का अपना एक विशेष महत्व है।

जितनी भी महिलाओं नई शादीशुदा होती हैं उनको पहली हरियाली तीज अपने मायके में ही मनानी पड़ती है। इसीलिए हरियाली तीज आने से कुछ दिन पहले ही उनके भाई उन्हें ससुराल से मायके ले आते हैं।

इस दिन सोलह सिंगार करने के बाद एक थाली में सिंगार की सभी सामान को सजाया जाता है तथा उसे माता पार्वती को अर्पण किया जाता है ।

तो दोस्तों यह आपके लिए एक छोटी सी जानकारी थी। आज इस आर्टिकल में हमने आपको बताया कि हरियाली तीज का पर्व क्या है? तथा हरियाली तीज क्यों मनाई जाती है? इसी के साथ हमने आपको हरियाली तीज मनाने के पीछे के कारण को भी बताया। हमें उम्मीद है कि यह जानकारी आपको पसंद आई होगी। दोस्तों अगर आप इसी प्रकार की अन्य जानकारियां पाना चाहते हैं तो हमारा आर्टिकल प्रतिदिन पढ़िए। अपना कीमती समय देने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद शुभ दिन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *